Loan क्या होता है | Types of Loan | लोन कितने प्रकार के होते है

Loan क्या होता है ?
Loan क्या होता है

अगर आप जानना चाहते है Loan क्या होता है और भारत में कितने प्रकार के लोन होते है तो Post पूरा पढ़ें क्योंकि मैंने पूरा डिटेल में बताया है।Loan क्या होता है

Loan क्या होता है ?

  • Loan क्या होता है , Loan किसी भी व्यक्ति या Company द्वारा अपने निजी आवयसकता को पूरा करने के लिए किसी Bank या Private संस्था के द्वारा लिए हुए पैसे होता है , जिसमे हमे उस बैंक को Interest के साथ उन्हें Return किया जाता है दिए हुए Time के मुताबिक उसे Loan कहते हैं।
  • या फिर दूसरे शब्दों कह सकते हैं , किसी चीज खरीदने के लिए या Business को बढ़ाने लिए या कोई Personal काम के लिए Bank या किसी Financial संस्था से लिए हुए Finance Help को ही Loan या कर्ज कहा जाता हैं।
  • इसके बदले में Customer को बैंक या किसी Finance Company को EMI के रूप में पुरे Interest के साथ पुरे रकम return करना होता है।

Time Period के हिसाब से Loan का Types

  1. Short Term Loan
  2. Medium Term Loan
  3. Long Term Loan
  • Short Term Loan :- इसमें Customer को 1 साल के अंदर पूरा रकम लौटाना होता है।
  • Medium Term Loan:- Customer को दिए हुए Amount को 1 साल से या 3 साल से 5 साल के बीच।
  • Long Term Loan :- और इसमें 5 साल से ज्यादा होता है।

Types of Loan (लोन कितने प्रकार के होते है)

  1. Personal Loan
  2. Gold Loan
  3. Loan against Security
  4. Property Loan
  5. Home Loan
  6. Education Loan
  7. Car Loan
  8. Corporate Loan

Personal Loan :-

  • Personal Loan या गैर जमानती Loan वैसे Loan है जिसमे व्यक्ति अपने Personal काम के लिए लेते है Personal Loan कहा जाता है। जैसे बच्चों के School Fees के लिए , घर के किसी काम के लिए या किसी को महंगे Gift देना।
  • वैसे हमलोगों को ये भी जान लेना चाहिए की हर Bank का अलग अलग ब्याज होता है, जैसे SBI का Interest Rate 12 % से 16 % तक लेते हैं। और HDFC 10.99 % से 20.75 % तक सालाना वसूल कर रहे हैं।
  • और ये भी जान लेना चाहिए के Personal Loan का Interest Rate दूसरे Loan के मुताबिक ज्यादा होता है। Personal Loan देते Time Bank ज्यादा Documents नहीं मांगते हैं। केवल वे Salary देख कर Loan issue कर देते हैं और Personal Loan आपको 5 साल तक के लिए मिलता है।

Gold Loan :-

  • Gold लोन एक ऐसा Process होता है जिसमें Bank Locker में Gold रख कर पैसा लिया जाता है। इसतरह के लोन के लिए जमा किये हुए Gold के quality और Price पे मिलते हैं। जहाँ तक ये दिखा गया है की Gold के Behavior में ये दिखा गया है की Bank आपको Gold के कीमत के 80 % तक Loan दे देता है।
  • ज्यादा तर Gold Loan अपने emergency समय पर लिया जाता है जाता है और Gold Loan का ब्याज दर Personal Loan से होता है। जैसे आजके के Time पर SBI 11.50% सलाना वसूल कर रहा है और HDFC 10% तक ले रहा है।

Loan Against Security :-

  • Security के बदले मिलने वाला Loan , इसमें Bank आपको Security Paper रख कर Loan देता है। लकिन यहां एक सवाल है की Security Paper होता है क्या।
  • अगर अपने Demand Share, Mutual Fund , Insurance Scheme Bond में पहले ही Invest किया हुआ है तो यही आपके Security Paper होता है जिसके बदले Bank आपको Loan देता है।
  • अगर किसी भी कारन आप Loan नहीं चूका पाते हैं तो Bank आपका Security Paper जब्त कर लेता है और आपके Share को Market में बेच देता है।
  • आप ये Security Paper को Bank गिरविह रख सकते है और आपको इन पेपर के आधार पर आपको Over Draft देता है। Over Draft क्या होता ? Over Draft का मतलब यह होता है जितने आपके Account में पैसा होता है उससे ज्यादा निकालने की Facility प्रदान करता है।

Property Loan :-

  • वह Loan होता है जिसमे Bank आपके Property के कागजात को रख कर देता है। इस लोन को आप ज्यादातर 15 साल तक के लिए ही ले सकते हैं।
  • यह Loan ज्यादा तर आपके Property कीमत के 40% से 60 % तक आप लोन ले सकते हैं।

Home Loan :-

  • घर खरीदने के लिए लिए हुए Amount को Home लोन कहते है। Home Loan आप केवल घर बनाने के लिए नहीं लेते है बल्कि घर बनाने की कीमत , माकन का Registration Stamp Duty के खर्चे के जोड़ कर आप लोन ल सकते हैं।
  • Bank आपके खर्चे का 70% से 85% तक के Bank आपको Loan दे सकती है। और बाकि खर्चे के पैसे आपको खुद से इन्तिजाम करना पड़ता है।
  • जैसे मान लीजिये आपने कोई Plot के लिए Loan लिया , जिसकी कीमत 6 लाख है तो आपको 6 लाख का 30% देना होगा यानि Bank को 1.80 लाख देना होगा और बाकि की रकम आप धीरे धीरे चुकाते रहेंगें।
  • Home Loan चुकाने के Time 5 साल से 20 साल तक हो सकता है। Home Loan के शर्तों में ब्याज के साथ कुछ और भी Charges होते है ,
  • जैसे Processing Fees , Administrative Charges ,Legal Fees और assessment Charges और इतियादी।

Education Loan :-

  • यह Loan हर Students नहीं ले पाते हैं। क्योंकि अगर वे किसी बड़े Institution में पढ़ना चाहते है लेकिन उसका बहुत ज्यादा फीस होता है। इसी को पूरा करने के लिए Bank से Loan लेते है।
  • इस Loan की जाँच दो तरीके से होते है पहला की Student के Family के Income पर और दूसरा Student कौन सी University में जा रहा है ताकि वह कमा कर भर सके। पढाई खत्तम करने के बाद Student Loan को Repayment कर सकता है।
  • Loan लेने एक Guarantor की भी जरूरत होता है। आज कल SBI Bank 7.50 लाख के ऊपर तक के लिए 10.70 % और 7.50% लाख तक के लिए Interest Rate चार्ज करता है।

Auto/Car Loan :-

  • Bank अक्सर Car खरीदने के लिए तरह तरह के Scheme देता रहता है। यह लोन का भी दूसरे Loan की तरह अलग अलग rule होता है।
  • और ये लोन की ब्याज Fixed या Floating दर पर मिलता है। Fixed Rate का मतलब यह होता है जब आप Loan लेते है और उस वक़्त जो दर Fixed किया जाता है और इस Rate को लोन खत्तम होने तक आपको Same ब्याज देना होता है।
  • Floating Rate वह ब्याज होता होता है जिसमें आपका Rate कम होता जाता है। वाहन Loan लेते समय Customer से पूछ लिया जाता है की आप Fixed Rate लेना चाहते है या Floating Rate लेना चाहते हैं।
  • जबतक आप Loan का पूरा पैसे नहीं लौटा देते तबतक उसका मालिक बैंक होता है। इसमें आपको Bank में Salary Slip और पिछले 2 या 3 साल का Income Return Tax जमा करना पड़ सकता है।
  • और इसके इलावा आपको अपना एक ID Proof और Address Proof भी जमा करना पड़ता है.नये कार के लिए अलग चार्ज और Used कर का अलग चार्ज होता है

Corporate Loan :-

  • Corporate Loan बड़े Business man को दिया जाता है जैसे Tata ,Ambani और इतियादी को। अभी नियमों के अनुसार बैंक किसी Company के कोर Capital का 55% तक Loan दे सकता है।

आज आपने क्या सीखा ?

आप ने सीखा आज सीखा की भारत में Bank या Finance Company कितने प्रकार के Loan अपने Customer को Provide कराता है। अपने सीखा Loan क्या होता है और Loan कितने प्रकार का होता है। अगर आपको ये Post काफी अच्छा लगा है तो अपने दोस्तों बीच Share करें ताकि उन्हें भी Loan के बारे में जानकारी हो।

धन्यवाद !

आप यह भी पढ़ें

Bank of Baroda में जीरो बैलेंस अकाउंट कैसे खुलायें

HDFC Bank में जीरो बैलेंस अकाउंट कैसे खोले

IDBI बैंक में जीरो बैलेंस अकाउंट कैसे खोले

ICICI जीरो बैलेंस अकाउंट कैसे खोले 

This Post Has 2 Comments

  1. MD Adil

    Very good information

Leave a Reply